मीडिया मंथन : मीडियाकर्मियों से की शांति और सदभाव फैलाने की अपील

 


 विश्व शांति दिवस पर शांतिवन आबू रोड में ब्रह्माकुमारीज के मीडिया प्रभाग द्वारा आयोजित मीडिया महासम्मेलन में उपस्थित भारत व नेपाल के 1600 मीडिया कर्मियों से संस्था के महासचिव निर्वेर भाई ने आहवान किया कि अशांति के दावानल में धधक रही दुनिया में अपनी लेखनी से शांति और सदभाव फैलाने का प्रयास करें। उन्होंने वर्ष 1982 में संयुक्त राष्ट्र संगठन के मंच से दिये गये अपने भाषण के कुछ अंश दोहराते हुए कहा कि यूएनओ का लक्ष्य ही शांति स्थापना है।

मीडिया प्रभाग के अध्यक्ष करूणा भाई ने कहा कि 140 देशों में फैली ब्रह्माकुमारीज संस्था शांति व सदभाव का संदेश प्रवाहित कर रही है। 10 लाख परिवार इससे जुडे हुए हैं। 40 हजार बहनें और 10 हजार भाई समर्पित भाव से विश्व कल्याण के लिये संस्था में कार्य कर रहे हैं। मीडिया कर्मियों को सकारात्मक रूख अपनाते हुए हर भले कार्य में सहभागी बनना चाहिये।

भोपाल से आये वरिष्ठ पत्रकार प्रो. कमल दीक्षित, महाराष्ट्र वन चैनल के कार्यकारी संपादक संदीप चौहान, इंडियन फैडरेशन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट के प्रधान के.विक्रम राव आदि वक्ताओं ने कहा कि शांति और सदभाव के लिये अध्यात्मिकता से जुडकर मीडिया महान भूमिका निभा सकता है।

प्रो. कमल दीक्षित जो मीडिया इनिसिएटिव फॉर वैल्यूज के राष्ट्रीय कन्वेनर भी हैं इस बात से चिंतित थे कि नफरत का वातावरण पैदा हो रहा है। उन्होंने कहा शांति और सद्भाव के लिए पत्रकारिता को और पत्रकारों को अपनी आंतरिक शक्ति में वृद्धि करनी ही होगी।  विक्रम राव ने कहा कि हम एक भ्रान्ति के दौर से गुजर रहे हैं। मीडिया को आध्यात्म से जोड़ने का प्रयास उचित है। इससे हमारे अंदर और सुधार आएगा।  इस प्रयत्न की प्रसंशा की जानी चाहिए।

समारोह का उदघाटन दीप जलाकर किया गया। नटराजन नृत्यशाला बैंगलोर के निर्देशक राजू भाई के नेतृत्व में कलाकारों ने शिव पिता का झंडा फहर रहा है शीर्षक गीत पर प्रभावशाली नृत्य प्रस्तुत किया। इससे पूर्व आयोजित स्वागत सत्र का शुभारंभ मूल रूप से आस्ट्रेलिया निवासी डेविड भाई के बांसुरी वादन से हुआ।

वक्ताओं में मीडिया प्रभाग के उपाध्यक्ष आत्मप्रकाश भाई, पीस आफ माईंड टीवी के ऐंकर विवेक भाई, खेल प्रभाग की उपाध्यक्ष शशि बहन, राष्ट्रीय संयोजक सुशांत भाई, अखिल भारतीय लघु समाचार पत्र संघ के अध्यक्ष शिव शंकर त्रिपाठी, मुख्यालय संयोजक शांतनू भाई शामिल थे।

मुख्य वक्तव्य में मुन्नी बहन ने उम्मीद जताई कि सम्मेलन में भाग लेने वाले मीडियाकर्मी नकारात्मकता त्याग कर स्व: परिवर्तन से विश्व परिवर्तन का संकल्प लेकर जायेंगे। उन्होंने संस्था के उत्थान में निवर्तमान मुख्य प्रशासिका दादी प्रकाशमनी के अमूल्य योगदान की विस्तार से चर्चा की। #

***

टिप्पणी पोस्ट करें